Home National केदारनाथ यात्रा भारी बारिश के चलते रोकी गयी

केदारनाथ यात्रा भारी बारिश के चलते रोकी गयी

केदारनाथ धाम में यात्री न होने से दिनभर रहा सन्नाटा

गुप्तकाशी : प्रदेश में हो रही भारी बारिश के चलते जिला प्रशासन ने तीर्थयात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए केदारनाथ यात्रा रोक दी। सोनप्रयाग से भेजे गए यात्रियों को भी गौरीकुंड में सुरक्षित स्थानों पर रुकने की सलाह दी गई। गौरीकुंड से आगे किसी भी यात्री को जाने की अनुमति नहीं दी गई। मौसम ठीक होने पर ही यात्रियों को आगे भेजा जाएगा। वहीं केदारनाथ धाम में यात्री न होने से दिनभर सन्नाटा रहा।

बीती रात से जिलेभर में भारी बारिश जारी है। रविवार को भी सुबह से बारिश के कारण जन जीवन अस्त व्यस्त रहा। केदारनाथ पैदल यात्रा मार्ग पर कई जगहों पर मलबा आया है जबकि रामबाड़ा में एक पुल क्षतिग्रस्त हो गया। पैदल मार्ग पर बड़ी मात्रा में पानी बहने लगा, जिससे आवाजाही करना कठिन हो गया। प्रशासन ने तीर्थयात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए यात्रा रोकने के निर्देश दिए। हालांकि सुबह 8 बजे सोनप्रयाग से 230 यात्रियों को आगे भेजा गया, किंतु गौरीकुंड में सुरक्षा की दृष्टि से उन्हें यहीं रोक दिया गया। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने सभी पड़ावों पर सेक्टर मजिस्ट्रेट और अन्य स्टाफ को सर्तक रहते हुए यात्रियों की सुरक्षा में उन्हें मौसम के अनुसार यात्रा संचालित के निर्देश दिए। एसडीआरएफ को भी अलर्ट रहने को कहा गया है। प्रशासन और पुलिस के साथ ही एसडीआरएफ को यात्रा मार्ग पर मौसम खराब होते ही यात्रियों को सुरक्षित ठिकानों पर ठहराने के लिए निर्देशित किया गया है।

इधर केदारनाथ धाम में मंदाकिनी का जल स्तर बढ़ने से गरुड़चट्टी जाने का पुल पर भी पानी छूने लगा जिससे यहां आवाजाही रोक दी गई। मंदाकिनी के जल स्तर को देखते हुए केदारनाथ में तीर्थयात्री और स्थानीय लोगों को नदी किनारे न जाने की सलाह दी गई। केदारनाथ में तीर्थपुरोहित, व्यापारी और स्थानीय लोग बारिश के चलते दिनभर कमरों में ही दुबके रहे। इधर केदारनाथ में रविवार को तीर्थयात्री न होने से सन्नाटा छाया गया। सुबह सुबह यहां करीब 30 से 50 यात्रियों ने दर्शन किए, वह भी दोपहर तक सुरक्षित पड़ावों पर लौट गए। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि बारिश कम होने के साथ ही मार्ग को देखते हुए यात्रा संचालित कर दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Must Read

उत्तराखंड काडर के IAS अधिकारी डॉ. राकेश कुमार विश्व के दस श्रेष्ठ अधिकारियों में हुए शुमार

लंदन स्कूल ने चुना आईएएस  डॉ. राकेश कुमार को विशिष्ट प्रशिक्षण के लिए  विशिष्ट प्रशिक्षण के लिए चुना जाना उत्तराखंड के लिए सम्मान की बात...

केसर के उत्पादन के अनुकूल है उत्तराखंड के पर्वतीय इलाकों की जलवायु …

उत्तराखंड में भी आसानी से हो सकता है केसर एक किलो का दाम एक लाख रुपये से अधिक वर्तमान में अफगानिस्तान, ईरान सहित भारत के कश्मीर...

आसन बैराज पहुंचे सुर्खाब, ग्रे लेग गीज, कारमोरेंट, कामन पोचार्ड प्रजातियों के परिंदे

उत्तराखंड के भीमगोड़ा और आसन बैराज में शुरू हो गयी विदेशी पक्षियों की कलरव देहरादून : देश के पहले कंजरवेशन रिजर्व आसन वेटलैंड में...

कश्मीर के हर चेहरे पर नज़र आ रहे हैं निश्चिंतता के भाव

आतंकी खौफ कुछ हद तक है पर जल्दी ही आमजन मजबूती से खड़े हैं इसके खिलाफ डल झील में हाऊसबोट व शिकारा वाले उदास तो...

अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी मालिक ईश्वरन के घर में लूट का पुलिस ने किया पर्दाफाश

बीएसएफ से बर्खास्त अधिकारी समेत पांच डकैत गिरफ्तार एक करोड़ 31 लाख रुपये कैश मिले थे लेकिन किसी ने नहीं लिखाई रिपोर्ट  क्राइम ब्यूरो  पुलिस ने  आरोपियों के...